Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Oct 15 21:19:31 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Anupam Enosh Sarkar*^~

Page#    Showing 6 to 10 of 8629 news entries  <<prev  next>>
  
Today (20:56) रेलवे की असंवेदनशीलता के कारण दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की इलाज के आभाव में हुई मौत (www.mumbailive.com)
Commentary/Human Interest
CR/Central
0 Followers
121 views

News Entry# 364783  Blog Entry# 3903757   
  Past Edits
Oct 15 2018 (20:56)
Station Tag: Diva Junction/DIVA added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
Stations:  Diva Junction/DIVA  
भले ही रेलवे अपने अपग्रेडेशन का दावा करे लेकिन उसके लिए इंसान की जान कोई मायने नहीं रखती। नवी मुंबई के दिवा-तलोजा स्टेशन के बीच कोंकणकन्या एक्सप्रेस की चपेट में आकर एक व्यक्ति गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घायल व्यक्ति रात भर ट्रैक पर पड़ा रहा, आखिर सुबह होने पर जब रेलवे कर्मचारियों को व्यक्ति के बारे में पता चला तो उसे ट्रेन से अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। व्यक्ति को तत्काल इलाज की जरूरत थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। घटना सोमवार रात की है।
स्थानीय लोगों के मुताबिक सोमवार आधी रात लगभग 1 बजे रेलवे ट्रैक पार करते समय एक व्यक्ति कोंकण कन्या एक्सप्रेस की चपेट में आ गया। इस बात की
...
more...
जानकारी रेलवे कर्मचारियों को ढाई बजे पता चली लेकिन इसके बाद भी कोई मौके पर नहीं पहुंचा। लेकिन सुबह होने पर जब कर्मचारी मौके पर पंहुचा तब तक व्यक्ति की मौत हो चुकी थी, लेकिन एम्बूलेंस नहीं होने के कारण फिर से ट्रेन का इंतजार करना पड़ा और जब एक घंटे बाद पैसेंजर ट्रेन आई तब उसे दिवा स्टेशन लाया गया और वहां से हॉस्पिटल ले जाया गया।कुछ यात्रियों ने बताया कि अगर घायल व्यक्ति को समय पर इलाज मिलता तो उसकी मौत नहीं होती, इस घटना के बाद रेलवे की असंवेदनशीलता एक बार फिर से सामने आ गयी।
  
ट्रेनों में दिवाली और छठ पूजा पर लंबी वेटिंग के मद्देनजर रेल प्रशासन ने एक दर्जन स्पेशल ट्रेनों का संचालन करने का फैसला किया है। ये ट्रेनें दशहरा बाद से छठ पूजा तक चलेंगी। इन सभी ट्रेनों का स्टॉपेज कानपुर सेंट्रल पर है। इसका मतलब यात्री कानपुर से गोरखपुर, दिल्ली, पटना, कोलकाता, मुंबई सहित कई रूटों पर जा सकेंगे। इन ट्रेनों में मंगलवार से बुकिंग भी शुरू हो जाएगी।
स्पेशल ट्रेनें और उनकी समय सारिणी
1. 04045 गोरखपुर से आनंद विहार, 21 अक्तूबर से 11 नवंबर 2018 तक हर रविवार। गोरखपुर से शाम
...
more...
14:45 बजे चलकर कानपुर 00:30 बजे, दिल्ली सुबह 8:35 बजे।
2. 04046 आनंद विहार से गोरखपुर, 20 अक्तूबर से 10 नवंबर 2018 तक हर शनिवार। 22:20 बजे दिल्ली से चलकर सेंट्रल 4:30 बजे, गोरखपुर 12:15 बजे
3. 04001 भागलपुर से दिल्ली, 19 अक्तूबर से 16 नवंबर 2018 तक हर शुक्रवार। भागलपुर से 17:30 बजे चलकर सेंट्रल दूसरे दिन 7:20 बजे, आनंद विहार 14:10 बजे
4. 04002 दिल्ली से भागलपुर, 18 अक्तूबर से 15 नवंबर 2018 तक हर गुरुवार। दिल्ली से 16:55 बजे, कानपुर आएगी 22:12 बजे, दूसरे दिन 11:00 बजे भागलपुर
5. 04021 पटना से दिल्ली, हर शनिवार 20 अक्तूबर से 17 नवंबर 2018 तक। पटना से 19:35 बजे, कानपुर सेंट्रल पर सुबह 7:35 बजे। आनंद विहार पहुंचेगी 14:10 बजेनजीब की मां बोलीं- जब तक बेटा नहीं मिलेगा, चैन से नहीं बैठूंगी
6. 04022 दिल्ली से पटना, हर शनिवार 20 अक्तूबर से 17 नवंबर 2018 तक। दिल्ली से 00:10 बजे, कानपुर 7:00 बजे, पटना पहुंचेगी शाम 16:20 बजे।
7. 04043 गया से दिल्ली, 4 नवंबर से 11 नवंबर 2018 तक हर रविवार। गया से 23:20 बजे, कानपुर आएगी 9:30 बजे, दिल्ली पहुंचेगी 17:05 बजे।
8. 04044 दिल्ली से गया, 4 से 11 नवंबर 2018 तक हर रविवार। दिल्ली से 00:10 बजे, सेंट्रल स्टेशन 7:35 बजे, गया पहुंचेगी 20:20 बजे।9. 04041 जयनगर से दिल्ली, हर बुधवार 17 अक्तूबर से 21 नवंबर 2018 तक। जयनगर से 01:35 बजे, कानपुर सेंट्रल 17:30 बजे, दिल्ली रात 00:10 बजे।
10. 04041 दिल्ली से जयनगर, हर मंगलवार 16 अक्तूबर से 20 नवंबर 2018 तक। दिल्ली से 00:10 बजे, कानपुर 6:40 बजे, जयनगर 23:30 बजे।
  
छत्तीसगढ़ में दो दिन पहले पेंड्रा के एक युवक को चलती ट्रेन से टीटीई द्वारा नीचे फेंके जाने की घटना हुई थी। मरवाही विधायक अमित जोगी ने इस घटना पर रेल मंत्रालय को आड़े हाथों लेते हुए रेल मंत्री पियूष गोयल और साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे (एस.ई.सी.आर.) के महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन को पत्र लिख घटना पर त्वरित कार्यवाही की मांग की है।

पत्र में जोगी ने लिखा है कि एस.ई.सी.आर. ज़ोन के एक ट्रेन टिकट निरक्षक (टीटीई) द्वारा की गयी ह्रदयवितारक घटना ने मानवता की सभी हदों को पार कर
...
more...
दिया है। घटना का ब्यौरा देते हुए जोगी ने बताया कि शनिवार दिनांक 13 अक्टूबर को पेंड्रा (छत्तीसगढ़) के ग्राम कुड़कुई निवासी 28 वर्षीय इंद्रकुमार कश्यप अनूपपुर से अपने घर पेंड्रा रोड की यात्रा कर रहे थे।

जिसके लिए उन्होंने पैसेंजर ट्रेन का टिकट लिया था। श्री कश्यप अनूपपुर जिले के ग्राम हरद में मजदूरी का कार्य करते हैं। जल्दबाजी में भूलवश वे अनूपपुर स्टेशन में रीवा बिलासपुर पैसेंजर ट्रेन में चढ़ने की बजाय नवतनवा दुर्ग एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ गए।

अनूपपुर स्टेशन से ट्रेन आगे बढ़ने पर जब टीटीई टिकट जांच के लिए आये तब श्री कश्यप की टिकट जांचने पर उनसे कहा गया कि चूँकि श्री कश्यप पैसेंजर ट्रेन की टिकट पर एक्सप्रेस ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं इसलिए उन्हें जुर्माना भरना पड़ेगा जिसके लिए टीटीई द्वारा श्री कश्यप से 800 रूपए जुर्माने की मांग करी।

जुर्माने की इतनी भारी रकम राशि चुकाने में असमर्थता जताते हुए श्री कश्यप ने उनके पास सिर्फ 200 रूपए होने की बात कही। इसके बाद टीटीई ने श्री कश्यप से वाद विवाद शुरू कर दिया और वेंकटनगर स्टेशन के पास श्री कश्यप को उक्त टीटीई ने चलती ट्रेन से धक्का दे दिया।

जिससे उनकी बाएं पैर की हड्डियां चकना चूर हो गयीं और युवक गंभीर रूप से घायल हो गए । युवक की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें तत्काल बिलासपुर के अपोलो अस्पताल लाया गया जहाँ उनका एक पैर काटना पड़ा। वर्तमान में भी श्री कश्यप की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

जोगी ने केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि इस प्रकरण ने हम सबको झगझोड़ कर रख दिया है। जोगी ने रेल मंत्री से पूछा कि क्या रेल मंत्रालय द्वारा एक छोटी सी भूल की इतनी बड़ी सजा दी जाती है?

क्या केंद्र सरकार की नज़रों में एक इंसान की जान की कीमत इतनी कम है कि पैसेंजर ट्रेन की टिकट पर एक्सप्रेस ट्रेन में भूलवश यात्रा करने पर उसकी जान पर बन आती है? क्या रेल मंत्रालय में सारी मानवीय संवेदनाएं मर गयी हैं?

यही सवाल अमित जोगी ने रेल मंत्री, रेल मंत्रालय और एस.ई.सी.आर. के महाप्रबंधक को ट्वीट के माध्यम से भी पूछा है। पत्र के अंत में जोगी ने लिखा है कि यह बहुत ही गंभीर घटना है। एक जनप्रतिनिधि होने के नाते उन्होंने रेल मंत्री से निवेदन किया है कि इस मामले में दोषी टीटीई के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज हो और तत्काल विभागीय कार्यवाही की जाए।

साथ ही पीड़ित इंद्रकुमार कश्यप को रेल मंत्रालय द्वारा 1 करोड़ रूपए मुआवजा राशि और रेलवे में नौकरी दी जाए। अमित जोगी ने आशा करी है कि विषय की गंभीरता को देखते हुए रेल मंत्री और एस.ई.सी.आर. के महाप्रबंधक इस पर त्वरित कार्यवाही करेंगे।
  
रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि अब ट्रेनों में भी हवाई जहाज की तरह ब्लैक बॉक्स का इस्तेमाल होगा.
यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे ने उठाया बड़ा कदम, अब प्लेन की तरह ट्रेनों में भी होगा ब्लैक बॉक्स
प्रतीकात्मक फोटोनई दिल्ली: देश में अब ट्रेनों में भी हवाई जहाज की तरह ब्लैक बॉक्स का इस्तेमाल होगा. रेलवे के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि जांचकर्ताओं के लिए दुर्घटनाओं का पता लगाना और चालक दल के कार्यों का आकलन करना सुगम बनाने के लिए जल्द ही ट्रेनों में वॉइस रिकॉर्डर या
...
more...
ब्लैक बॉक्स होगा. रेलयात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेल ने लोको कैब वॉइस रिकॉर्डिंग (एलसीवीआर) डिवाइस इंजन में लगाने का फैसला किया है. यह जानकारी रेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने दी.
टिप्पणियां अधिकारी ने कहा कि यह सिस्टम विकास के क्रम में है. इंजन में लगे वीडियो/वॉइस रिकॉर्ड रिस्टम से जांचकर्ताओं को महत्वपूर्ण आंकड़े प्राप्त होंगे, जोकि उनको हादसे के कारणों के लिए जिम्मेदार घटनाओं के तार जोड़ने में मदद करेंगे. साथ ही, इससे संचालन संबंधी समस्यओं और चालक दलों के निष्पादन समेत मानवीय कारकों के बारे में भी जानने में मदद मिलेगी.
फिलहाल, ब्लैकबॉक्स का इस्तेमाल वायुयान में ही होता है. इसमें दो अलग-अलग उपकरण होते हैं. एक में उड़ान के आंकड़ों की रिकॉर्डिग होती है और दूसरे में कॉकपिट की ध्वनि. यह हवाई जहाज के पिछले हिस्से में होता है, जहां वे किसी दुर्घटना की स्थिति में सुरक्षित बचे रहते हैं.
  
Today (20:41) मालगाड़ी की बोगी के खुले दरवाजे से सिग्नल टूटा (www.amarujala.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
194 views

News Entry# 364779  Blog Entry# 3903703   
  Past Edits
Oct 15 2018 (20:41)
Station Tag: Bilpur/BLPU added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
Stations:  Bilpur/BLPU  
फतेहगंज पूर्वी। शाहजहांपुर की ओर जा रही लांग हॉल मालगाड़ी की बोगी का खुला दरवाजा रविवार दोपहर एक बजे बिलपुर स्टेशन के स्टार्टर सिग्नल से टकरा गया। सिग्नल पोल टूटने से बिलपुर और मीरानपुर कटरा स्टेशनों के बीच सिग्नल प्रणाली ठप हो गई। इसके बाद मालगाड़ी को पेपर कॉशन से गुजारा गया। इस दौरान आधा दर्जन ट्रेनें करीब आधे घंटे तक अलग-अलग स्टेशनों पर खड़ी रहीं। टेक्निकल टीम ने सिग्नल ठीक करके ट्रेनें गुजारीं, लेकिन बिलपुर की डाउन लाइन का सिग्नल दुरुस्त नहीं होने से शाहजहांपुर की आरे जाने वाली ट्रेनों को लूप लाइन से गुजारा जा रहा था। सूत्रों के अनुसार, बरेली से शाहजहांपुर जाने वाली मालगाड़ी पूरी गति से बिलपुर रेलवे स्टेशन से गुजर रही थी। अचानक मालगाड़ी के एक वैगन का खुला दरवाजा मेन लाइन के स्टार्टर सिग्नल से टकरा गया। इससे सिग्नल जमीन से उखड़ कर दूर जा गिरा और डाउन लाइन की सिग्नल प्रणाली ठप हो...
more...
गई। मालगाड़ी बिलपुर से तो पास हो गई, लेकिन सिग्नल हरा नहीं होने से मालगाड़ी मीरानपुर कटरा के आउटर पर खड़ी हो गई। पेपर कॉशन से जब तक उसे हटाया गया, तब तक आधा घंटा से अधिक समय लग गया। इस दौरान बिलपुर में अमरनाथ सुपर फास्ट एक्सप्रेस को करीब 45 मिनट रुकना पड़ा। उसके पीछे आ रही त्रिवेणी एक्सप्रेस को टिसुआ, अवध-असम एक्सप्रेस को पीतांबर पुर, सियालदह एक्सप्रेस को रसुइया में रोका गया। कई अन्य मालवाहक ट्रेनों को भी रोकना पड़ा।
यह है लांग हॉल मालगाड़ी
लांग हॉल मालगाड़ी बनाने के लिए दो ट्रेनों के रैक जोड़े जाते हैं। लंबी होने के कारण इसे बरेली से चलने पर सिर्फ रोजा में रोका जा सकता है।
Page#    8629 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy