Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

RailFans - once you meet them, friends for life

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Fri Aug 19 15:47:50 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by ♤The Silent Traveller ♧♤

Page#    Showing 1 to 5 of 10423 news entries  next>>
Indian Railways को अपनी एक ट्रेन से 63 करोड़ रुपए का नुकसान झेलना पड़ा है. रेलवे का यह प्रयोग सफल नहीं रहा. रेलवे को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है.
Indian Railways Running Status : भारतीय रेलवे (Indian Railways) को अपनी एक ट्रेन से 63 करोड़ रुपए का नुकसान झेलना पड़ा है. आपको बता दे कि द‍िल्‍ली से चलने वाली यह ट्रेन 3 साल पहले तेजस ट्रेनों का पहली बार संचालन निजी ऑपरेटर्स को सौंपा गया था. लेकिन रेलवे का यह प्रयोग सफल नहीं रहा. रेलवे को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है.
रोजाना
...
more...
200 सीटें रही खालीफ‍िलहाल दिल्ली से लखनऊ और मुंबई से अहमदाबाद के बीच तेजस ट्रेनों का संचालन क‍िया है. ये दोनों ही ट्रेनें लगातार घाटे में चल रही हैं. द‍िल्‍ली से लखनऊ वाया कानपुर सेंट्रल तेजस ट्रेन 27.52 करोड़ के घाटे में है. लगातार हो रहे घाटे और यात्री नहीं मिलने के कारण तेजस के दिन में लगने वाले फेरे भी कम किये हैं. पहले इसे हफ्ते में 6 दिन चलाया जाता था, लेक‍िन अब यह 4 द‍िन ही चलती है. इतना ही नहीं इस ट्रेन में रोजाना 200 से 250 सीटें खाली रह जाती हैं. 
ये है कारण तेजस के आगे राजधानी और शताब्दी चलती हैं. हालाँकि इनका किराया तेजस से कम है लेक‍िन सुव‍िधाओं के मामले में ये तेजस से कम नहीं हैं. ऐसे में लोग तेजस को व‍िकल्‍प के रूप में रखते हैं. प्राइवेट ऑपरेटर्स के साथ ट्रेन को लगातार हो रहे नुकसान के कारण रेलवे ने फिलहाल कोई दूसरी ट्रेन निजी ऑपरेटर को नहीं दी.
देखें कितना हुआ घाटाकोरोना के बाद से तेजस की फ्रीक्वेंसी काफी कम हो गई है. यात्री कम होने पर साल 2019 से 2022 के बीच इसका अस्थायी रूप से 5 बार परिचालन भी बंद कर दिया गया है. लखनऊ-नई दिल्ली रूट (Lucknow-New Delhi Route) पर तेजस को 2019-20 में 2.33 करोड़ का फायदा हुआ. इसके बाद 2020-21 में 16.69 करोड़ रुपये का घाटा और वर्ष 2021-22 में 8.50 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है.
क्‍यों हुआ है घाटाआईआरसीटीसी (IRCTC) को रेलवे की तरफ से 2019 में अहमदाबाद-मुंबई और लखनऊ-दिल्ली तेजस ट्रेन (Lucknow-Delhi Tejas Train) का संचालन करने की ज‍िम्‍मेदारी दी थी. 3 साल में दोनों ट्रेनों का घाटा बढ़कर 62.88 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

Rail News
12250 views
Aug 13 (01:23)
vlogtravel328
IndianRailFan   55 blog posts
Re# 5446452-1              
Is train Chhapra ya Patliputra tak extend kar dena chahiye sara los re cover ho jaega bihar se bahut bheed chalti train me Delhi Jane ke liye
Aug 05 (14:25) आठ अगस्त से पटरी पर लौटेगी गोंडा-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस (www.jagran.com)
New/Special Trains
NER/North Eastern
0 Followers
14823 views

News Entry# 494319  Blog Entry# 5437498   
  Past Edits
Aug 05 2022 (14:25)
Station Tag: Ayodhya Junction/AY added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:25)
Station Tag: Mankapur Junction/MUR added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:25)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:25)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:25)
Train Tag: Gonda - Varanasi Intercity Express/14214 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:25)
Train Tag: Varanasi - Gonda Intercity Express/14213 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
a
रेलवे आठ अगस्त से पटरी पर लैटेगी इंटरसिटी
आठ अगस्त से पटरी पर लौटेगी गोंडा-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस जासं, वाराणसी: गोंडा और वाराणसी के बीच संचालित इंटरसिटी एक्सप्रेस का इंतजार समाप्त हो गया है। यह ट्रेन आठ अगस्त से पुनः पटरी पर लौट आएगी। उत्तर रेलवे प्रशासन के अनुसार गाड़ी संख्या-14213/14214 वाराणसी-गोंडा एक्सप्रेस की सेवा आठ अगस्त तथा गोंडा- वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस नौ अगस्त से बहाल की जाएगी। इसके पूर्व अकबरपुर रेलखंड पर प्रस्तावित इंटर लाकिंग के चलते उत्तर रेलवे प्रशासन ने आठ अगस्त तक इस ट्रेन के निरस्तीकरण का विस्तार कर
...
more...
दिया है, जबकि पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत रेलवे ने इस ट्रेन को एक अगस्त से बहाल करने का ऐलान किया था। Varanasi Police : जिले की ग्रामीण पुलिस ने 30 से अधिक खोए हुए मोबाइल फोन बरामद कर संबंधित मालिकों को सौंपा यह भी पढ़ें Edited By: Jagran
आठ अगस्त से पटरी पर लौटेगी गोंडा-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस
जासं, वाराणसी: गोंडा और वाराणसी के बीच संचालित इंटरसिटी एक्सप्रेस का इंतजार समाप्त हो गया है। यह ट्रेन आठ अगस्त से पुनः पटरी पर लौट आएगी। उत्तर रेलवे प्रशासन के अनुसार गाड़ी संख्या-14213/14214 वाराणसी-गोंडा एक्सप्रेस की सेवा आठ अगस्त तथा गोंडा- वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस नौ अगस्त से बहाल की जाएगी। इसके पूर्व अकबरपुर रेलखंड पर प्रस्तावित इंटर लाकिंग के चलते उत्तर रेलवे प्रशासन ने आठ अगस्त तक इस ट्रेन के निरस्तीकरण का विस्तार कर दिया है, जबकि पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत रेलवे ने इस ट्रेन को एक अगस्त से बहाल करने का ऐलान किया था।

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.
Aug 05 (14:24) Bahraich News: बहराइच तक ट्रेन न चली तो 22 अगस्त को करेंगे धरना-प्रदर्शन (www.amarujala.com)
Politics
NER/North Eastern
0 Followers
13707 views

News Entry# 494317  Blog Entry# 5437496   
  Past Edits
Aug 05 2022 (14:24)
Station Tag: Bahraich/BRK added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:24)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:24)
Train Tag: Varanasi - Gonda Intercity Express/14213 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:24)
Train Tag: Gonda - Varanasi Intercity Express/14214 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
विस्तार गोंडा वाराणसी ट्रेन को बहराइच तक विस्तारित न किया गया तो 22 अगस्त को रेलवे प्रशासन के खिलाफ एकजुटता के साथ डीआरएम आफिस पर धरना प्रदर्शन होगा। यह चेतावनी रेलवे प्रशासन की उदासीनता से नाराज बहराइच के सांसद अक्षयबर लाल गोंड ने दी है। उन्होंने रेलवे अफसरों पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि बहराइच से मैलानी तक जाने वाली छोटी लाइन की ट्रेनों की समय सारिणी बदलने की मांग को भी रेलवे के अधिकारी लगातार नजरअंदाज कर रहे है। इसे कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सांसद ने कहा कि आकांक्षीय जिला चिह्नित होने के बाद भी रेलवे के अफसर पूरी तरह भेदभाव बरत रहे हैं।सांसद अक्षयबर लाल गोंड ने रेलवे बोर्ड के अफसरों से गोंडा से वाराणसी तक चलने वाली इंटरसिटी ट्रेन को बहराइच तक विस्तारित करने के लिए कई बार पत्र लिख कर अनुरोध किया है। 23 दिसंबर 2019 को रेलवे बोर्ड अध्यक्ष कार्यालय से एक पत्र...
more...
सांसद को प्राप्त हुआ, इसमें बताया गया कि ट्रेन संख्या 14213 (वाराणसी से गोंडा) एवं ट्रेन संख्या 14214 (गोंडा से वाराणसी) के मध्य अप-डाउन इंटरसिटी एक्सप्रेस को बहराइच-वाराणसी व वाराणसी-बहराइच तक विस्तारित कर संचालित कराने की कार्ययोजना तैयार करायी जा रही है। इससे क्षेत्रवासियों को वाराणसी व अयोध्या तक के लिए सीधी ट्रेन मिलने की उम्मीद जगने लगी थी।बाद में जब रेलवे प्रशासन ने उक्त ट्रेन को गोंडा से वाराणसी तक चलाने का ऐलान किया तो इसमें ट्रेन को बहराइच तक विस्तारित करने का कोई जिक्र नहीं था। इसी को लेकर नाराज सांसद ने रेलवे प्रशासन पर बहराइच की जनता को उपेक्षित करने का आरोप लगाते हुए 22 अगस्त को डीआरएम आफिस पर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। ट्रेन रूट को विस्तारित किए जाने के साथ ही सांसद ने बहराइच-बिछिया दोनो ओर से सायं पांच बजे एक यात्री गाड़ी चलाए जाने और गोंडा से बहराइच तक के लिए दो मेमू ट्रेन संचालित करने किए जाने की मांग भी रेलवे बोर्ड के अफसरों से की थी।आश्वासन के बाद भी मुकरा रेलवे प्रशासनरेल प्रशासन ने इस पर गोंडा यार्ड की रिमाडलिंग के बाद ही मेमू ट्रेन का संचालन संभव हो पाने की बात कही थी। सांसद का कहना है कि कि गोंडा यार्ड के रिमाडलिंग का कार्य पूर्ण हो जाने के बाद भी अब रेलवे प्रशासन जनसमुदाय से जुड़ी ट्रेन रूट विस्तारित करने और मेमू ट्रेन का संचालन शुरू किए जाने को लेकर उदासीन है। रेलवे अफसरों की इस वादा खिलाफ को कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने साफ किया कि यदि 22 अगस्त को प्रस्तावित धरना प्रदर्शन के बाद भी रेलवे प्रशासन ने जनहित से जुड़ी मांगों की उपेक्षा की तो पूरे मामले को संसद में उठाया जाएगा।
Aug 05 (14:20) बाराबंकी-गोंडा-गोरखपुर-छपरा 425 किमी मुख्य रेल मार्ग 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के लायक तैयार इसे 160 किमी प्रति घंटे की क्षमता के लायक बनाने की योजना बन रही , पूर्वोत्तर रेलवे के सभी रेल मार्गों पर 110 की रफ्तार से चलेंगी ट्रेनें, रेलवे बोर्ड ने जारी (www.google.com)
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
0 Followers
31904 views

News Entry# 494316  Blog Entry# 5437494   
  Past Edits
Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Anand Nagar Junction/ANDN added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Barhni/BNY added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Siddharth Nagar/SDDN added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Balrampur/BLP added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Barabanki Junction/BBK added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Basti/BST added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Chhapra Junction/CPR added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Aishbagh/ASH added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Badshahnagar/BNZ added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:20)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
a
Railway Board Order रेलवे बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे की सभी ट्रेनों को 110 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलाने का दिशा-निर्देश जारी किया है। इस स्पीड को पाने के लिए रेलवे ने तैयारी शुरू कर दी है।
गोरखपुर, प्रेम नारायण द्विवेदी। पूर्वोत्तर रेलवे के सभी रेल मार्गों पर 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें चलेंगी। ट्रेनों का समय पालन और बेहतर होने के चलते लेटलतीफी दूर होगी। ट्रैक पर गाड़ियों की क्षमता बढ़ेगी। आने वाले दिनों में गाड़ियां एक के पीछे एक चल सकेंगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड
...
more...
ने दिशा- निर्देश जारी करते हुए सभी जोनल प्रमुख मुख्य इंजीनियरों (पीसीई) को प्रमुखता से तेजी के साथ रेल लाइनों की गति क्षमता बढ़ाने का अधिकार दे दिया है। ट्रैक की गति बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड ने जारी किया निर्देश, पीसीई को दिया अधिकार नई व्यवस्था के तहत गोरखपुर कैंट- नरकटियागंज, गोरखपुर-भटनी-वाराणसी, गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां और गोरखपुर-आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा आदि रूटों पर भी ट्रेनें 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकेंगी।रेलवे प्रशासन को इन रेल मार्गों पर की गति क्षमता बढ़ाने के लिए बोर्ड और रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) का मुंह नहीं देखना होगा। इस कार्य के लिए जोनल स्तर पर प्रमुख मुख्य इंजीनियर ही सक्षम होंगे। अभी तक जोन से तैयार प्रस्तार पर रेलवे बोर्ड की हरी झंडी और सीआरएस की सहमति के बाद ही रेल मार्गों की क्षमता बढ़ाने का कार्य हो पाता था। फिलहाल, पूर्वोत्तर रेलवे के बाराबंकी-गोंडा-गोरखपुर-छपरा 425 किमी मुख्य रेल मार्ग पर पहले से ही 110 किमी प्रति घंटे की गति से ट्रेनें चल रही हैं। यह मार्ग 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के लायक तैयार हो चुका है। 160 किमी प्रति घंटे की क्षमता के लायक बनाने की योजना बन रही है। इसके अलावा बनारस- प्रयागराज और मऊ- शाहगंज रेलमार्ग पर ट्रेनें 110 किमी प्रति घंटा की गति से चल रही हैं। 160 की गति वाली बनेंगी नई रेल लाइनें अब नई रेल लाइनें 160 किमी प्रति घंटा की गति क्षमता वाली तैयार होंगी। दोहरीकरण और तीसरी में रेल लाइनों की क्षमता भी 110 से 130 किमी प्रति घंटा की होगी। पूर्वोत्तर रेलवे की सहजनवां-दोहरीघाट लगभग 80 किमी तथा खलीलाबाद-बहराइच करीब 240 किमी नई रेल लाइनों पर ट्रेनें 160 की रफ्तार से चलेंगी। गोरखपुर कैंट-नरकटियागंज और भटनी-औड़िहार रूट की दूसरी लाइन (दोहरीकरण) पर तथा डोमिनगढ-गोरखपुर-कुसम्ही के रास्ते खलीलाबाद से बैतालपुर तीसरी रेल लाइन पर भी ट्रेनें 110 से 130 की गति से चल सकेंगी। ट्रेनों की गति बढ़ाने की दिशा में कार्य कर रही है। इसी क्रम में जिन रेल खण्डों की सेक्शनल गति 110 किमी प्रतिघंटा से कम है, उसे बढ़ाकर 110 किमी प्रतिघंटा तक किया जाना है। इसके लिए रेलवे बोर्ड द्वारा क्षेत्रीय रेल के प्रमुख मुख्य इंजीनियर को अधिकृत किया गया है, जिससे इन कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर तेजी से कराया जा सके। - पंकज कुमार सिंह, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी- पूर्वोत्तर रेलवे।
गोरखपुर, प्रेम नारायण द्विवेदी। पूर्वोत्तर रेलवे के सभी रेल मार्गों पर 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें चलेंगी। ट्रेनों का समय पालन और बेहतर होने के चलते लेटलतीफी दूर होगी। ट्रैक पर गाड़ियों की क्षमता बढ़ेगी। आने वाले दिनों में गाड़ियां एक के पीछे एक चल सकेंगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड ने दिशा- निर्देश जारी करते हुए सभी जोनल प्रमुख मुख्य इंजीनियरों (पीसीई) को प्रमुखता से तेजी के साथ रेल लाइनों की गति क्षमता बढ़ाने का अधिकार दे दिया है।

ट्रैक की गति बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड ने जारी किया निर्देश, पीसीई को दिया अधिकार
नई व्यवस्था के तहत गोरखपुर कैंट- नरकटियागंज, गोरखपुर-भटनी-वाराणसी, गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां और गोरखपुर-आनंदनगर-बढ़नी-गोंडा आदि रूटों पर भी ट्रेनें 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकेंगी।रेलवे प्रशासन को इन रेल मार्गों पर की गति क्षमता बढ़ाने के लिए बोर्ड और रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) का मुंह नहीं देखना होगा। इस कार्य के लिए जोनल स्तर पर प्रमुख मुख्य इंजीनियर ही सक्षम होंगे। अभी तक जोन से तैयार प्रस्तार पर रेलवे बोर्ड की हरी झंडी और सीआरएस की सहमति के बाद ही रेल मार्गों की क्षमता बढ़ाने का कार्य हो पाता था। फिलहाल, पूर्वोत्तर रेलवे के बाराबंकी-गोंडा-गोरखपुर-छपरा 425 किमी मुख्य रेल मार्ग पर पहले से ही 110 किमी प्रति घंटे की गति से ट्रेनें चल रही हैं। यह मार्ग 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के लायक तैयार हो चुका है। 160 किमी प्रति घंटे की क्षमता के लायक बनाने की योजना बन रही है। इसके अलावा बनारस- प्रयागराज और मऊ- शाहगंज रेलमार्ग पर ट्रेनें 110 किमी प्रति घंटा की गति से चल रही हैं।

160 की गति वाली बनेंगी नई रेल लाइनें
अब नई रेल लाइनें 160 किमी प्रति घंटा की गति क्षमता वाली तैयार होंगी। दोहरीकरण और तीसरी में रेल लाइनों की क्षमता भी 110 से 130 किमी प्रति घंटा की होगी। पूर्वोत्तर रेलवे की सहजनवां-दोहरीघाट लगभग 80 किमी तथा खलीलाबाद-बहराइच करीब 240 किमी नई रेल लाइनों पर ट्रेनें 160 की रफ्तार से चलेंगी। गोरखपुर कैंट-नरकटियागंज और भटनी-औड़िहार रूट की दूसरी लाइन (दोहरीकरण) पर तथा डोमिनगढ-गोरखपुर-कुसम्ही के रास्ते खलीलाबाद से बैतालपुर तीसरी रेल लाइन पर भी ट्रेनें 110 से 130 की गति से चल सकेंगी।

रेलवे ट्रेनों की गति बढ़ाने की दिशा में कार्य कर रही है। इसी क्रम में जिन रेल खण्डों की सेक्शनल गति 110 किमी प्रतिघंटा से कम है, उसे बढ़ाकर 110 किमी प्रतिघंटा तक किया जाना है। इसके लिए रेलवे बोर्ड द्वारा क्षेत्रीय रेल के प्रमुख मुख्य इंजीनियर को अधिकृत किया गया है, जिससे इन कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर तेजी से कराया जा सके। - पंकज कुमार सिंह, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी- पूर्वोत्तर रेलवे।

1 Posts

24742 views
Aug 05 (23:23)
Kingdom
ComingSoon   64 blog posts
Re# 5437494-2              
Bas badka badka bolna bhar aata hai karna kuch nahi...130 par train abhi tak chali nahi ab taiyari 160 ki karne lage 🤣😆

24496 views
Aug 05 (23:28)
Kingdom
ComingSoon   64 blog posts
Re# 5437494-3               Past Edits
Automatic signaling ka work kitna hua, Chal raha kaam ya abhi band hai??

25366 views
Aug 05 (23:31)
Munna Tripathi IRI
IncredibleIndianRailway~   1015 blog posts
Re# 5437494-4              
Wow . 130 kmph in parallel universe.

Rail News
22493 views
Aug 06 (11:01)
Train Lover
vicky1112   4 blog posts
Re# 5437494-5              
NER Railway ke speed he nhi maintain kr pati ksie route per....

22842 views
Aug 06 (11:12)
🎉Gonda Yard Remodeling is in progress🎉
TanaySrivastava~   1013 blog posts
Re# 5437494-6              
Abhi koi jankari ni hai iske baare. Dr sahab clear bata payenge.
Aug 05 (14:13) आठ अगस्त से वाराणसी से गोंडा तक चलेगी इंटरसिटी एक्सप्रेस (www.google.com)
New/Special Trains
NER/North Eastern
0 Followers
21827 views

News Entry# 494315  Blog Entry# 5437489   
  Past Edits
Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Shahganj Junction/SHG added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Akbarpur Junction/ABP added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Jaunpur Junction/JNU added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Ayodhya Junction/AY added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Mankapur Junction/MUR added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Train Tag: Varanasi - Gonda Intercity Express/14213 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964

Aug 05 2022 (14:13)
Train Tag: Gonda - Varanasi Intercity Express/14214 added by ♤The Silent Traveller ♧♤/206964
a
भदोही से वाराणसी होते हुए जौनपुर अकबरपुर व गोंडा जाने वाले यात्रियों को रेलवे ने भारी राहत प्रदान कर दी है।
आठ अगस्त से गोंडा तक चलेगी इंटरसिटी एक्सप्रेस जागरण संवाददाता, भदोही : भदोही से वाराणसी होते हुए जौनपुर, अकबरपुर व गोंडा जाने वाले यात्रियों को रेलवे ने राहत प्रदान कर दी है। वाराणसी-लखनऊ के बीच चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस का परिचालन अब गोंडा तक होगा। रेलवे ने न सिर्फ निर्देश जारी कर दिया है बल्कि ट्रेन के चेयरकार में आठ अगस्त के लिए आरक्षण भी शुरू हो गया है। कोरोना
...
more...
काल से पहले इंटरसिटी एक्सप्रेस का परिचालन लखनऊ-वाराणसी-गोंडा के बीच होता था। कोरोना काल के बाद ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया लेकिन इसे वाराणसी-लखनऊ तक सीमित कर दिया गया था। इसके कारण वाराणसी-जौनपुर रेलखंड के यात्रियों की समस्या बढ़ गई थी। अनुदान पर करिए केला की खेती, मिलेगा बढ़िया लाभ यह भी पढ़ें भदोही से जौनपुर-अकबरपुर, शाहगंज के लिए सीधी ट्रेन सुविधा न होने के कारण लोगों को वाराणसी जाकर ट्रेन बदलना पड़ता है। इस दौरान न सिर्फ समय की बर्बादी होती है बल्कि किराया भी अधिक अदा करना पड़ता है। इंटरसिटी का परिचालन बहाल होने के बाद अब भदोही से वाराणसी-जौनपुर रेलखंड के यात्री किसी भी स्टेशन की यात्रा कर सकते हैं। स्टेशन के वरिष्ठ बुकिंग पर्यवेक्षक राजकुमार यादव का कहना है कि यह ट्रेन वाराणसी-लखनऊ के बीच 14203-14204 नंबरों से चलती है जबकि वाराणसी-गोंडा के बीच इसका नंबर बदल जाएगा। वाराणसी से गोंडा के बीच यह ट्रेन 14213 व 14214 नंबरों से चलेगी। बताया आठ अगस्त से इसमें आरक्षण शुरू हो गया।Edited By: Jagran
आठ अगस्त से गोंडा तक चलेगी इंटरसिटी एक्सप्रेस
जागरण संवाददाता, भदोही : भदोही से वाराणसी होते हुए जौनपुर, अकबरपुर व गोंडा जाने वाले यात्रियों को रेलवे ने राहत प्रदान कर दी है। वाराणसी-लखनऊ के बीच चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस का परिचालन अब गोंडा तक होगा। रेलवे ने न सिर्फ निर्देश जारी कर दिया है बल्कि ट्रेन के चेयरकार में आठ अगस्त के लिए आरक्षण भी शुरू हो गया है। कोरोना काल से पहले इंटरसिटी एक्सप्रेस का परिचालन लखनऊ-वाराणसी-गोंडा के बीच होता था। कोरोना काल के बाद ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया लेकिन इसे वाराणसी-लखनऊ तक सीमित कर दिया गया था। इसके कारण वाराणसी-जौनपुर रेलखंड के यात्रियों की समस्या बढ़ गई थी।

भदोही से जौनपुर-अकबरपुर, शाहगंज के लिए सीधी ट्रेन सुविधा न होने के कारण लोगों को वाराणसी जाकर ट्रेन बदलना पड़ता है। इस दौरान न सिर्फ समय की बर्बादी होती है बल्कि किराया भी अधिक अदा करना पड़ता है। इंटरसिटी का परिचालन बहाल होने के बाद अब भदोही से वाराणसी-जौनपुर रेलखंड के यात्री किसी भी स्टेशन की यात्रा कर सकते हैं। स्टेशन के वरिष्ठ बुकिंग पर्यवेक्षक राजकुमार यादव का कहना है कि यह ट्रेन वाराणसी-लखनऊ के बीच 14203-14204 नंबरों से चलती है जबकि वाराणसी-गोंडा के बीच इसका नंबर बदल जाएगा। वाराणसी से गोंडा के बीच यह ट्रेन 14213 व 14214 नंबरों से चलेगी। बताया आठ अगस्त से इसमें आरक्षण शुरू हो गया।
Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.
Page#    10423 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy