Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Aug 17 04:40:24 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Vcpl Jbp

Page#    Showing 1 to 5 of 483 news entries  next>>
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. भारतीय रेलवे में पश्चिम मध्य रेलवे अपने गठन के बाद से तेजी से तरक्की की राह में बढ़ रहा है, यहां पर यात्री सुविधा का मामला हो या फिर रेल कर्मचारियों के कल्याण की योजनाएं हों, या फिर आधुनिकीकरण का मसला हो, सभी क्षेत्रों में इसकी अलग छवि नजर आ रही है. पमरे की आय में भी लगातार बढ़ोत्तरी साल-दर साल हो रही है. यह सब पमरे के लगभग 65 हजार अफसर-कर्मचारियों के अनुशासित स्टाफ की वजह से संभव हो सका है. यह उद्गार आज स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त बुधवार को पमरे के अपर महाप्रबंधक प्रदीप कुमार ने रेलवे स्टेडियम में ध्वजारोहण के पश्चात व्यक्त किये.
इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम, आकर्षक परेड आकर्षण का केंद्र रहा. एजीएम प्रदीप कुमार
...
more...
ने पमरे के प्रभारी महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन का संदेश का वाचन भी किया.
श्री कुमार ने बताया कि पमरे का वर्ष 2018-19 का ऑपरेटिंग रेशियो 76.55 प्रतिशत चल रहा है. वित्तीय वर्ष 2018-19 में अपै्रल से जुलाई तक हमारी आय लगभग 3932 करोड़ रुपए रही है, जो पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 12 प्रतिशत अधिक है. पमरे में जुलाई तक 1332 कोचों में बॉयोटायलेट लगा दिये गये हैं. शेष 190 कोचों में बॉयो टायलेट लगाये जाने की प्रक्रिया जारी है. जबलपुर से प्रारंभ होने वाली 03 जोड़ी गाडिय़ों को ज्यादा सुरक्षित एलएचबी रैक में परिवर्तित कर संचालित किया जा रहा है. पमरे के 07 स्टेशनों पर 19 लिफ्ट लगायीं गई तथा 2018-19 में 04 स्टेशनों पर 07 लिफ्ट लगाने की योजना है. पमरे के 04 स्टेशनों पर 11 एस्केलेटर लगाये गये तथा 2018-19 में 04 स्टेशनों पर 08 एस्केलेटर लगाने की योजना है. जनवरी 2018 से जुलाई 2018 तक विभिन्न गाडिय़ों में 546 अस्थायी कोच लगाये गये हैं. 31 ग्रीष्म कालीन विशेष गाडिय़ों के द्वारा 1748 फेरे एवं विभिन्न त्यौहारों के दौरान 12 अतिरिक्त गाडिय़ाँ तथा भोपाल-बीना-भोपाल के बीच मेमू एक्सप्रेस चलाई गई है.
पमरे के कुल 29 स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध है. 46 स्टेशनों पर 104.
उन्होंने बताया कि पमरे के सभी 279 स्टेशनों पर 100 प्रतिशत एलईडी लाईट्स लगा दी गई हैं. पमरे में सौर ऊर्जा के अंतर्गत कुल 3500 किलोवाट क्षमता के सोलर प्लांट स्थापित किये गये हैं. इससे 5.8 मिलियन यूनिट एवं 4.36 करोड़ रुपये की वार्षिक बचत हुई है. यात्रियों की संरक्षा हमारी सर्वोपरि प्राथमिकता है.
संरक्षा को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से पमरे में जनवरी 2018 से जुलाई 2018 तक कुल 07 संरक्षा अभियान चलाये गये. पमरे के तीनों मंडलों में पेट्रोलमेनों एवं ट्रॉलीमेनों को मानसून पेट्रोलिंग में उपयोग किये जाने हेतु जीपीएस ट्रेकर्स उपलब्ध करा दिये गये हैं. इस वर्ष अब तक 23 मानव सहित समपार फाटक बन्द किये गये हैं एवं 08 समपार फाटकों को इंटरलॉक किया गया है. श्री कुमार ने बताया कि पश्चिम मध्य रेल महिला कल्याण संगठन द्वारा महिला यात्रियों के लिए स्तनपान कराने हेतु जबलपुर, विदिशा, गुना, कोटा एवं बाराँ स्टेशन पर अमृत काउंटर की स्थापना एवं जबलपुर, भोपाल, इटारसी, होशंगाबाद एवं बीना स्टेशन पर महिला यात्रियों के लिए सेनेटरी नेपकिन वेंडिंग मशीन लगाई गई है.
इन्हें पुरस्कार दिया
अपर महाप्रबंधक के संदेश वाचन के बाद रंगारंग कार्यक ्रम प्रस्तुत किया गया. बच्चों एवं कर्मचारियों को उत्साहवर्धन करने हेतु अपर महाप्रबंधक द्वारा रेल सुरक्षा बल को 35 हजार, स्काउट एवं गाइड्स को 20,000, सेंट जोन्स एम्बुलेंस ब्रिगेड को रु. 10,000, रेलवे स्कूल जबलपुर को रु. 15,000/- डबलूएसईसी स्कूल जबलपुर को रु. 15,000/- एवं जागृति केयर सेन्टर रु. 15,000/-, सांस्कृतिक अकादमी को रु. 15,000/- और रु. 20,000/- के सामूहिक पुरस्कार की घोषणा की गई. रेलवे स्टेडियम में ध्वजारोहण के उपरांत अपर महाप्रबंधक जबलपुर स्टेशन के समीप स्थित जागृति केयर सेन्टर 1/4बेसहारा बच्चों का देखभाल स्थल1/2 जो महिला कल्याण संगठन, पष्चिम मध्य रेल द्वारा संचालित है, पर भी अपर महाप्रबंधक द्वारा ध्वजारोहण किया गया.
जागृति केयर सेन्टर के बच्चों द्वारा देश भक्ति के ऊपर एक रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया. तत्पश्चात् बच्चों को उपहार भी प्रदान किये गये और जागृति केयर सेन्टर को 25,000 रुपए की पुरस्कार की घोषणा की गई. इस मौके पर अपर महाप्रबंधक द्वारा केन्द्रीय रेल चिकित्सालय का निरीक्षण किया गया साथ ही महिला कल्याण संगठन, पष्चिम मध्य रेल की सदस्याओं द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजों को फल एवं उपहार देकर उनके शीघ्र स्वस्थ होने कि कामना की और रेल चिकित्सालय को 20,000 हजार की पुरस्कार की घोषणा की गई.
डीआरएम आफिस में डॉ. सिंह ने फहराया तिरंगा
मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय जबलपुर में डी.आर.एम. डॉ. मनोज सिंह ने एवं पष्चिम मध्य रेल के मुख्यालय में मुख्य कार्मिक अधिकारी जी.एल.मीना द्वारा ध्वजारोहण किया गया एवं राष्ट्रीय गान हुआ, जिसमें कार्यालय के अधिकारिेयों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया.
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे का नया टाइम टेबिल आधी रात 12 बजे से लागू हो चुका है, जिसका पालन भी शुरू हो गया है. पहले ही दिन बदले समय की जानकारी काफी यात्रियों को नहीं होने के कारण आज 15 अगस्त बुधवार को जबलपुर से सोमनाथ जाने वाली ट्रेन नये समय दोपहर 12 बजे की बजाय 20 मिनट पहले 11.40 बजे रवाना करने का निर्णय लिया गया, जिसकी जानकारी समय पर यात्रियों को नहीं होने के कारण ऐन वक्त पर रेल प्रशासन ने इस ट्रेन को पुराने समय 12 बजे ही रवाना करने का निर्णय लिया, जिससे यात्रियों की ट्रेन छूटने से बच गई.
उल्लेखनीय है कि रेलवे में ने नये समय सारिणी के मुताबिक 15 अगस्त से ट्रेनों का समय, रफ्तार
...
more...
और मार्ग बदल दिया है. जिन स्टेशनों पर ट्रेनों के ठहरने का समय कम था, वहां पर 3 से 5 मिनट तक का इजाफा किया है. इसके अलावा जबलपुर स्टेशन पर टर्मिनेट होने वाली ट्रेनों को समय से पहले पहुंचाया जाएगा.
सोमनाथ एक्सप्रेस 11.40 बजे छूटना था, दो दिन के लिए पुराने समय पर चलेगी
बताया जाता है कि बहुत ही कम यात्रियों को इस बाद की जानकारी थी कि जबलपुर से सोमनाथ जाने के लिए गाड़ी संख्या 11464 सोमनाथ एक्सप्रेस जो 12 बजे रवाना होती है, वह आज 20 मिनट पहले 11.40 बजे छोडऩे का पहले निर्णय लिया गया, किंतु इस बदलाव की जानकारी समय पर यात्रियों को नहीं मिल सकी, जिससे काफी यात्रियों की ट्रेन छूटने का खतरा मंडराने लगे, कुछ यात्रियों ने तत्काल ही संबंधित अधिकारियों तक अपनी बात पहुंचाई, जिसके बाद सोमनाथ एक्सप्रेस के समय बदलाव का निर्णय दो दिनों के लिए टाल दिया गया है, अब यह ट्रेन आज 15 व गुरुवार 16 अगस्त को दोपहर 12 बजे ही रवाना होगी, जिसके बाद यह ट्रेन नये समय 11.40 बजे से छूटा करेगी.
इस संबंध में पमरे की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्रीमती प्रियंका दीक्षित ने कहा कि ट्रेन संख्या 11464 सोमनाथ एक्सप्रेस को आज से 11.40 बजे से ही छूटना था, किंतु काफी यात्रियों को इस बदलाव की जानकारी नहीं थी, यात्रियों को कोई परेशानी नहीं हो, इसे देखते हुए मंडल रेल प्रबंधक द्वारा इस ट्रेन को अगले दो दिनों तक पुराने समय दोपहर 12 बजे ही छोडऩे का निर्णय लिया गया है.
यह ट्रेनें जबलपुर जल्दी आया करेंगी
- ट्रेन 11463 सोमनाथ एक्सप्रेस, पहले दोपहर 3.10 आती थी, अब दोपहर 2.20 पर आएगी.
- ट्रेन 11465 सोमनाथ एक्सप्रेस, पहले शाम 6 बजे आती थी, अब 5.20 पर आएगी.
- ट्रेन 51702 रीवा-जबलपुर पहले रात 8.30 बजे आती थी, अब 7.40 पर आएगी.
अगले माह से यह ट्रेन अब कटनी-मुड़वारा-कटनी साउथ होकर चलेंगी
- ट्रेन संख्या 11449 कटरा एक्सप्रेस 25 सितंबर से
- ट्रेन 11466 सोमनाथ एक्सप्रेस, 22 सितंबर से
- ट्रेन 22181 जबलपुर.-निजामुद्दीन एक्सप्रेस 22 सितंबर से
- ट्रेन 19810 जबलपुर-कोटा एक्सप्रेस 20 सितंबर से
- ट्रेन 12121 जबलपुर-निजामुद्दीन सम्पर्क क्रांति एक्सपे्रस 21 सितंबर से
- ट्रेन 12181 जबलपुर अजमेर दयोदय एक्सप्रेस 20 सितंबर से
- ट्रेन 11271 इटारसी-भोपाल विंध्याचल एक्सप्रेस 20 सितंबर से
इन गाडिय़ों का जबलपुर स्टेशन पर स्टॉपेज समय बढ़ा
- 12853 दुर्ग-भोपाल अमरकंटक एक्सप्रेस पहले 5 मिनट, अब 10 मिनट
- 12854 भोपाल.-दुर्ग अमरकंटक एक्सप्रेस पहले 5 मिनट, अब 10 मिनट
दमोह-सागर स्टेशन में ट्रेनों के ठहराव का समय बढ़ाया
. ट्रेन 11449 जबलपुर-कटरा अप-डाउन पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
. ट्रेन 12121 जबलपुर-निजामुद्दीन संपर्क क्रांति एक्सप्रेस अप-डाउन, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
ट्रेन 12181 जबलपुर अजमेर दयोदय एक्सप्रेस अप-डाउन, पहले 2 मिनट अब 5 मिनट
. ट्रेन 22181 जबलपुर-निजामुद्दीन अप-डाउन, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
. ट्रेन 19810 जबलपुर-कोटा, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे का नया टाइम टेबिल आधी रात 12 बजे से लागू हो चुका है, जिसका पालन भी शुरू हो गया है. पहले ही दिन बदले समय की जानकारी काफी यात्रियों को नहीं होने के कारण आज 15 अगस्त बुधवार को जबलपुर से सोमनाथ जाने वाली ट्रेन नये समय दोपहर 12 बजे की बजाय 20 मिनट पहले 12.40 बजे रवाना हो गई, जिसे कई यात्री नहीं पकड़़ सके.
जिससे यात्री नाराज दिखे.
उल्लेखनीय है कि रेलवे में ने नये समय सारिणी के मुताबिक 15 अगस्त से ट्रेनों का समय, रफ्तार और
...
more...
मार्ग बदल दिया है. जिन स्टेशनों पर ट्रेनों के ठहरने का समय कम था, वहां पर 3 से 5 मिनट तक का इजाफा किया है. इसके अलावा जबलपुर स्टेशन पर टर्मिनेट होने वाली ट्रेनों को समय से पहले पहुंचाया जाएगा.
सोमनाथ एक्सप्रेस से यात्री हुए परेशान
बताया जाता है कि बहुत ही कम यात्रियां को इस बाद की जानकारी थी कि जबलपुर से सोमनाथ जाने के लिए गाड़ी संख्या 11464 सोमनाथ एक्सप्रेस जो 12 बजे रवाना होती है, वह आज 20 मिनट पहले 11.40 बजे छूटेगी. नये समय की जानकारी नहीं होने से काफी यात्री 11.40 बजे के बाद प्लेटफार्म पर पहुंचे, जहां पर पता चला कि उनकी ट्रेन तो रवाना हो चुकी है. जिससे काफी यात्रियों ने विरोध शुरू कर दिया. यात्रियों का कहना था कि रेल प्रशासन ने बदले समय का सही ढंग से समुचित प्रचार-प्रसार नहीं किया. वहीं मंडल रेल प्रशासन द्वारा सोमनाथ एक्सप्रेस के नये समय से रवाना होने की जानकारी आज 11 बजे के लगभग वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से प्रचारित की जाती रही.
यह ट्रेनें जबलपुर जल्दी आया करेंगी
- ट्रेन 11463 सोमनाथ एक्सप्रेस, पहले दोपहर 3.10 आती थी, अब दोपहर 2.20 पर आएगी.
- ट्रेन 11465 सोमनाथ एक्सप्रेस, पहले शाम 6 बजे आती थी, अब 5.20 पर आएगी.
- ट्रेन 51702 रीवा-जबलपुर पहले रात 8.30 बजे आती थी, अब 7.40 पर आएगी.
अगले माह से यह ट्रेन अब कटनी-मुड़वारा-कटनी साउथ होकर चलेंगी
- ट्रेन संख्या 11449 कटरा एक्सप्रेस 25 सितंबर से
- ट्रेन 11466 सोमनाथ एक्सप्रेस, 22 सितंबर से
- ट्रेन 22181 जबलपुर.-निजामुद्दीन एक्सप्रेस 22 सितंबर से
- ट्रेन 19810 जबलपुर-कोटा एक्सप्रेस 20 सितंबर से
- ट्रेन 12121 जबलपुर-निजामुद्दीन सम्पर्क क्रांति एक्सप्रेस 21 सितंबर से
- ट्रेन 12181 जबलपुर अजमेर दयोदय एक्सप्रेस 20 सितंबर से
- ट्रेन 11271 इटारसी-भोपाल विंध्याचल एक्सप्रेस 20 सितंबर से
इन गाडिय़ों का जबलपुर स्टेशन पर स्टॉपेज समय बढ़ा
- 12853 दुर्ग-भोपाल अमरकंटक एक्सप्रेस पहले 5 मिनट, अब 10 मिनट
- 12854 भोपाल.-दुर्ग अमरकंटक एक्सप्रेस पहले 5 मिनट, अब 10 मिनट
दमोह-सागर स्टेशन में ट्रेनों के ठहराव का समय बढ़ाया
. ट्रेन 11449 जबलपुर-कटरा अप-डाउनए पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
. ट्रेन 12121 जबलपुर-निजामुद्दीन संपर्क क्रांति एक्सप्रेस अप-डाउन, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
ट्रेन 12181 जबलपुर अजमेर दयोदय एक्सप्रेस अप-डाउन, पहले 2 मिनट अब 5 मिनट
. ट्रेन 22181 जबलपुर-निजामुद्दीन अप-डाउन, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट
. ट्रेन 19810 जबलपुर-कोटा, पहले 2 मिनट, अब 5 मिनट

  
2270 views
Aug 15 (11:55)
जोधपुर दिल्ली सराय रोहिल्ला एक्सप्रेस^~   36571 blog posts   679 correct pred (56% accurate)
Re# 3714238-1            Tags   Past Edits
Ye har baar hota hai...

  
1968 views
Aug 15 (12:23)
Messenger   421 blog posts   3 correct pred (80% accurate)
Re# 3714238-2            Tags   Past Edits
Isliye kehte 1hr phele jaye

  
1872 views
Aug 15 (12:31)
Shubham Yadav^~   4191 blog posts   5660 correct pred (77% accurate)
Re# 3714238-3            Tags   Past Edits
"बुधवार को जबलपुर से सोमनाथ जाने वाली ट्रेन नये समय दोपहर 12 बजे की बजाय 20 मिनट पहले 12.40 बजे रवाना हो गई, जिसे कई यात्री नहीं पकड़़ सके"
ek bharat ratan iska pakka 😂😂😂
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे में लगातार अधिकारियों के साथ अभद्रता, धक्का मुक्की व कई जगह मारपीट की घटनाएं सामने आने के बाद रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने सभी जोनल महाप्रबंधकों को संदेश दिया है कि इस तरह की घटनाओं में शामिल स्टाफ, भले ही वह किसी भी मजदूर संगठन में बड़े पद पर क्यों न हो, उसके खिलाफ तत्काल एक्शन लेते हुए नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाए.
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी का एक संदेश इन दिनों पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर सहित सभी रेल जोनों में अफसरों के मोबाइल पर वायरल हो रहा है. इस संदेश में श्री लोहानी ने लखनऊ में पिछले दिनों लखनऊ में एक रेलवे के श्रमिक संगठन के नेता ने रेलवे अस्पताल में एक
...
more...
डॉक्टर के साथ जमकर मारपीट की थी. इस घटना पर आल इंडिया रेलवे आफीसर्स एसोसिएशन ने आपत्ति जताते हुए चेयरमैन रेलवे बोर्ड को शिकायत की थी. शिकायत में कहा गया था कि पिछले कुछ समय से लगातार श्रमिक संगठनों द्वारा अफसरों से अभद्रता की घटनाएं पूरे देश में सामने आ रही हैं, कई मामलों में तो मजदूर नेताओं द्वारा चेम्बर में घुसकर अफसरों के साथ मारपीट भी की थी. इन घटनाओं से अफसर अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं और उनका काम करना मुश्किल हो गया है. इस तरह के मामलों में कोई ठोस निर्णय लिया जाए.
सीआरबी आदेश
अब अफसरों के साथ मारपीट, अभद्रता करना मुश्किल पैदा करेगा
चेयरमैन श्री लोहानी के हाल ही में देश भर के जोनल महाप्रबंधकों, जोनल व आल इंडिया रेलवे आफीसर्स एसोसिएशन को भेज संदेश में उन्होंने स्पष्ट किया है कि इस तरह की मैन हेंडलिंग (मारपीट) या अभद्रता यदि किसी भी अफसर के साथ की जाती है, इस तरह की घटनाओं में चाहे कितना भी बड़ा मजदूर नेता क्यों न लिप्त हो, उस पर तत्काल एक्शन लिया जाए और उसे नौकरी से रिमूवल अंडर 14/2 के तहत कर दिया जाए.
आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में
जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य
खबर : चर्चा में
1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?
2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश
3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान
4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता
5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र
6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग
7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में
8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल
9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?
10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात
11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. महाकोशल एक्सप्रेस के सामने कूदकर आत्महत्या करने के मामले में जबलपुर में टकराव की स्थिति निर्मित हो गई है. इस घटना में मंडल रेल प्रबंधक डा. मनोज कुमार सिंह ने त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रताडऩा दिये जाने के आरोपी सीनियर डीईई टीआरओ सुरेन्द्र यादव को पद से हटाने का जो निर्णय लिया है, उससे डायरेक्ट आफीसर्स एसोसिएशन विरोध में सामने आ गया है. उसने अपने अफसर पर कार्रवाई का विरोध करने का निर्णय लिया है. दूसरी तरफ रनिंग स्टाफ के समर्थन में दोनों श्रमिक संगठन पमरे एम्पलाइज यूनियन व मजदूर संघ भी सामने गया है.
वहीं जीआरपी ने लोको पायलट हैरीसन जॉन के आत्महत्या करने के मामले में मर्ग पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है, उसकी जांच इस
...
more...
बिंदु पर हो रही है कि उसने किस आफीसर की प्रताडऩा के चलते आत्महत्या की.
उल्लेखनीय है कि जबलपुर में पदस्थ वरिष्ठ मेल लोको पायलट हैरीसन जॉन पिछले कई दिनों से काफी तनाव में थे, उन्हें वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता (टीआरओ) सुरेंद्र यादव द्वारा कटनी रनिंग रूम की 150 चादरें जलाने के आरोप में दो-दो कड़ी सजा एक साथ दी थी, जिसमें जहां उसे तीन पद नीचे पदावनत करते हुए शंटर बनाया गया, वहीं वेतनमान भी 60000 रुपए से सीधे 35400 रुपए कर दिया था, उसने अपनी सजा के खिलाफ अपील भी की थी, किंतु उसकी सुनवाई नहीं हो रही थी, जिसके चलते हुए उसने आत्मघाती कदम उठा लिया.
जबलपुर-कटनी-इटारसी के बीच 10 ट्रेनें धमी, डीआरएम हुए सक्रिय
उल्लेखनीय है कि अपने साथी पायलट की मौत से आक्रोशित अन्य पायलटों ने जबलपुर से कटनी व इटारसी के बीच 10 से अधिक ट्रेन रोक दी, जिसके बाद डीआरएम मनोज सिंह सक्रिय हुए और देर रात घटना स्थल पर पहुंचकर आंदोलित कर्मचारियों से चर्चा करते हुए सबसे पहले मृत लोको पायलट की सजा को माफ करते हुए उसे पुराने वेतनमान व पद पर वापस लौटाने का आदेश दिया. साथ ही सीनियर डीईई टीआरओ सुरेंद्र यादव जिन पर प्रताडि़त करने का आरोप था, उसे पद से हटाते हुए जांच का आदेश दिया, जिसके बाद रेल संचालन बहाल हुआ.
रेलवे बोर्ड से जबलपुर घनघनाते रहे फोन
इस घटना की खबर रेलवे बोर्ड तक पहुंची, जिससे वहां से पमरे मुख्यालय के आला अधिकारियों तक घटना की जानकारी व बीच का रास्ता निकालने के लिए फोन घनघनाते रहे. पमरे के अधिकारी काफी दबाव में थे.
अब नाराज हुए डायरेक्टर आफीसर्स एसोसिएशन
सीनियर डीईई टीआरओ सुरेंद्र यादव को पद से हटाने व उनके खिलाफ जांच के आदेश से डायरेक्टर आफीसर्स एसोसिएशन खफा हो गई है, उसने इस निर्णय का विरोध जताने का निर्णय लिया है. एक डायरेक्टर अफसर का कहना था कि सीनियर डीईई टीआरओ ने तो अपना काम नियमों के मुताबिक किया और उसी के मुताबिक कार्रवाई की, उनके निर्णय को बदलने का अधिकार एडीआरएम व डीआरएम को था, इसलिए सिर्फ एक अफसर को बली का बकरा बनाना उचित नहीं है. वे अपना विरोध लिखित में दर्ज कराने की तैयारी में हैं.
Page#    483 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy