News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Thu Feb 22, 2018 08:25:14 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Thu Feb 22, 2018 08:25:14 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    311346 news entries  next>>
  
Today (08:19)  रेलवे बोर्ड की टाइम टेबल कमेटी में नौ ट्रेनों को लेकर फैसले की बारी (mnaidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsWR/Western  -  

News Entry# 330058     
   Past Edits
Feb 22 2018 (08:19)
Station Tag: Indore Junction/INDB added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Indore Junction/INDB  
 
 
इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे बोर्ड की टाइम टेबल कमेटी की सालाना बैठक नई दिल्ली में 22 फरवरी से होने जा रही है। इसमें देशभर के शहरों से नई ट्रेनों के संचालन, फेरे बढ़ाने और रूट परिवर्तन समेत अन्य महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर विचार होगा। कमेटी की मुहर के बाद ही रेलवे बोर्ड नई ट्रेन घोषित करेगा और अन्य जरूरी बदलाव करेगा। इसमें इंदौर से संबद्ध नौ प्रस्ताव भी हैं। चार प्रस्ताव इंदौर से नई ट्रेनें शुरू करने को लेकर हैं। इसके अलावा दो ट्रेनों के फेरों में विस्तार, एक ट्रेन के समय में बदलाव और एक ट्रेन के रूट व समय में बदलाव का प्रस्ताव कमेटी के सामने मंजूरी के लिए लाया जाएगा।
बैठक में हर जोन के प्रतिनिधि शामिल होते हैं जो
...
more...
नई ट्रेन चलाने, फेरों में वृद्धि या रूट परिवर्तन को लेकर जोन की स्थिति स्पष्ट करते हैं। पहले यह बैठक रेल बजट पेश होने से पहले होती थी लेकिन मोदी सरकार ने नई ट्रेनों की घोषणा समेत अन्य बातें बजट में बताना बंद कर दी हैं। इसलिए कमेटी की बैठक भी देरी से होने लगी है। इंदौर के लिहाज से बैठक महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की ओर से रेल मंत्रालय को कई अहम प्रस्ताव भेजे गए हैं और पूरी उम्मीद है कि ज्यादातर पर कमेटी में सहमति बने।
यह भेजा है प्रस्ताव : नई ट्रेन
1. छोटे रूट से इंदौर-नई दिल्ली ट्रेन
फायदा- इंदौर-नई दिल्ली के बीच नई ट्रेन चलना इसलिए जरूरी है क्योंकि सराय रोहिल्ला इंटरसिटी एक्सप्रेस में सालभर यात्रियों का जबरदस्त दबाव रहता है। मालवा एक्सप्रेस कहने को सुपरफास्ट है लेकिन ज्यादातर वैष्णोदेवी जाने वाले यात्री ही इसका उपयोग करते हैं। मालवा का रूट बहुत लंबा है। दिल्ली के लिए जो अन्य ट्रेनें हैं, वे भी इक्का-दुक्का दिन हैं। स्पीकर की ओर से प्रस्ताव दिया गया है कि नई दिल्ली के लिए नई ट्रेन सप्ताह में दो दिन छोटे रूट से चलाई जाए और उसके स्टॉपेज कम रखे जाएं। इससे यात्रियों को बेहतर विकल्प मिलेगा।
2. इंदौर-रायपुर-बिलासपुर सुपरफास्ट ट्रेन
फायदा- वर्तमान में इंदौर की रायपुर और दुर्ग से सीधी कनेक्टिविटी नहीं है। बिलासपुर के लिए सीधी ट्रेन तो है लेकिन वह बहुत ज्यादा समय लेती है। इंदौर-भोपाल-नागपुर-रायपुर-बिलासपुर ट्रेन से यह कमी पूरी हो जाएगी। दूसरा महत्वपूर्ण फायदा यह होगा कि अभी इंदौर से नागपुर के लिए सप्ताह में दो दिन इंदौर-नागपुर एक्सप्रेस चलती है और एक दिन अहिल्यानगरी ट्रेन है। रायपुर-बिलासपुर ट्रेन चलने से नागपुर के लिए प्रतिदिन रेल सुविधा मिलेगी। दुर्ग-रायपुर तक सीधी रेल सेवा से यात्रियों की बरसों पुरानी मांग पूरी होगी। यह सुविधा प्रतिदिन मिल सकती है।
3. इंदौर-भोपाल इंटरसिटी नॉन स्टॉप एक्सप्रेस
फायदा- इंदौर-भोपाल के बीच प्रतिदिन लगभग 25 हजार यात्रियों की आवाजाही है, लेकिन इसका फायदा रेलवे को नहीं मिल रहा क्योंकि भोपाल जाने वाली ज्यादातर ट्रेनें उज्जैन होकर जाती हैं। इस ट्रेन को दिन में दो बार नॉन स्टॉप दोनों तरफ से चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है। यह ट्रेन भोपाल से सुबह चलकर इंदौर आएगी, फिर इंदौर से चलकर दोपहर भोपाल पहुंचेगी। कुछ देर बाद दोबारा यह ट्रेन इंदौर के लिए चलेगी और शाम को इंदौर से भोपाल लौट जाएगी। इसका टाइम टेबल एसी डबल डेकर एक्सप्रेस जैसा होगा। शुरुआत में इस ट्रेन को केवल अनारक्षित कोच से चलाने की योजना है। इससे जो यात्री बसों का इस्तेमाल करते हैं, वे कम किराए और कम समय में दोनों शहरों की यात्रा कर सकेंगे।
4. महू-पटना वाया दानापुर नई ट्रेन
फायदा- अभी इंदौर-पटना के बीच सप्ताह में दो दिन ट्रेन चलती है, लेकिन महू से सैन्य अफसरों और सैनिकों के लिए पटना तक आने-जाने के लिए सीधी ट्रेन नहीं है। यह ट्रेन चलेगी तो महू से सैनिकों के अलावा अन्य यात्रियों को भी फायदा होगा और इंदौर-पटना एक्सप्रेस पर ट्रैफिक भार कम होगा। इस ट्रेन को सप्ताह में दो दिन चलाने का आग्रह किया गया है।
फेरे बढ़ाना
1. इंदौर-पटना एक्सप्रेस रोज चलाना- टाइम टेबल कमेटी के सामने इंदौर-पटना ट्रेन को रोज चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है। इंदौर से चलने वाली ट्रेनों में यात्रियों का सर्वाधिक दबाव इसी ट्रेन पर है। इससे उत्तर प्रदेश-बिहार जाने वाले यात्रियों को बड़ी राहत मिलेगी।
2. शिप्रा एक्सप्रेस को रोज चलाना- इंदौर-हावड़ा शिप्रा एक्सप्रेस का संचालन अभी सप्ताह में केवल 3 दिन होता है। यात्रियों की बढ़ती संख्या के कारण इसे रोज चलाना जरूरी है क्योंकि शहर में बड़ी संख्या में बंगाल के लोग रहते हैं। शिप्रा एक्सप्रेस रोज चलेगी तो इंदौर से विदिशा, सागर और दमोह जाने वाले यात्रियों को भी सुविधा होगी।
रूट, समय और गंतव्य में बदलाव
1. इंदौर-उदयपुर एक्सप्रेस- यह ट्रेन उदयपुर से तो रात में रवाना होकर सुबह इंदौर पहुंचती है, लेकिन शांति एक्सप्रेस के रैक लिंक के कारण इंदौर से इसका संचालन सुबह होता है और रात में ट्रेन उदयपुर पहुंचती है। इंदौर के यात्रियों के हिसाब से ट्रेन का समय सुविधाजनक नहीं है। लंबे समय से राजस्थान के लोग इंदौर से ट्रेन का समय बदलने की मांग कर रहे हैं।
2. इंदौर-अजमेर-जयपुर ट्रेन वाया फतेहाबाद- वर्तमान में इंदौर-अजमेर-जयपुर ट्रेन रोज शाम उज्जैन जाती है जहां इसके कोच भोपाल-जयपुर एक्सप्रेस में जुड़ते हैं। इंदौर से यह ट्रेन महज 8 कोच से चलती है जिसमें केवल एक थर्ड एसी, तीन स्लीपर, तीन जनरल और एक एसएलआर कोच शामिल हैं। यात्रियों के दबाव के कारण ये कोच बहुत कम हैं। कमेटी को प्रस्ताव भेजा गया है कि भोपाल-जयपुर एक्सप्रेस से इंदौर-जयपुर ट्रेन का लिंक खत्म कर उसे पूरी क्षमता के साथ वाया बड़नगर-फतेहाबाद चलाया जाए।
3. शांति एक्सप्रेस को राजकोट तक चलाना- वर्तमान में शांति एक्सप्रेस इंदौर से गांधी नगर तक जाती है, लेकिन नए प्रस्ताव में इसे गांधी नगर के बजाय राजकोट तक चलाने की बात कही गई है। वैसे भी इस ट्रेन में अहमदाबाद जाने वालों का ज्यादा दबाव है और राजकोट तक चलने से वहां के यात्रियों की इंदौर से सीधी कनेक्टिविटी हो जाएगी। यदि कमेटी यह प्रस्ताव मानती है तो शांति एक्सप्रेस अहमदाबाद होकर राजकोट तरफ चली जाएगी इसलिए बहुत ज्यादा रूट परिवर्तन भी नहीं करना पड़ेगा।
अगले हफ्ते तक स्थिति स्पष्ट हो जाएगी
रेलवे पैसेंजर एमिनिटीज कमेटी के पूर्व सदस्य नागेश नामजोशी ने बताया कि रेलवे टाइम टेबल कमेटी की बैठक में इंदौर से संबद्ध छोटे-बड़े नौ प्रस्ताव भेजे गए हैं। बैठक 22 से 24 फरवरी तक होगी। संभवतः अगले हफ्ते तक प्रस्तावों पर हुए फैसलों की जानकारी मिल पाएगी।
  
Today (08:17)  सीनियर डीसीएम व डीसीएम ने की जांच, एक दिन में वसूला 4 लाख जुर्माना (mnaidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 330057     
   Past Edits
Feb 22 2018 (08:17)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
 
 
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
बिलासपुर रेल मंडल की सीनियर डीसीएम श्रीमती रश्मि गौतम व डीसीएम मनोज शाह ने मंगलवार को बिलासपुर से अकलतरा तक ट्रेनों व स्टेशनों की जांच की। इस दौरान 1056 प्रकरण में 3 लाख 70 हजार 775 रुपए जुर्माना वसूला गया।
यह विशेष जांच समय-समय पर होती है। अफसरों व कर्मचारियों की इस टीम ने पहले जोनल स्टेशन में घेराबंदी कर बेटिकट यात्रियों को पकड़ा। टीम में एससीएम केसी स्वाइन भी शामिल थे। इसके बाद जुर्माने की कार्रवाई की गई। इसके बाद टीम ने ट्रेनों में दबिश दी। बिलासपुर के अलावा
...
more...
अकलतरा रेलवे स्टेशन व यहां से गुजरने वाली ट्रेनों में जांच की गई। इस दौरान बिना टिकट के 340 मामले बनाकर 2 लाख 19 हजार 140 रुपए जुर्माना वसूला गया। इसी तरह अनियमित टिकट के 287 मामलों से एक लाख 11 हजार 925 रुपए, बिना बुक किए गए लगेज के 398 मामलों से 36 हजार 490 रुपए और टिकट श्रेणी परिवर्तन के 12 मामलों से 1670 रुपए जुर्माना वसूल किया गया। साथ ही गंदगी फैलाने वाले यात्रियों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए 19 मामल बनाए गए और 1550 रुपए जुर्माना वसूला गया। कुल 1056 मामलों से 3 हजार 70 हजार 775 रुपए बतौर जुर्माना वसूला गया।
  
Today (08:16)  एडीआरएम ने पेंट्रीकार में दी दबिश, खामियां देख भड़के (mnaidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 330056     
   Past Edits
Feb 22 2018 (08:16)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
 
 
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
निजामुद्दीन-दुर्ग संपर्कक्रांति एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में मसाला, मिर्च व आटा समेत कोई भी सामान ब्रांडेड नहीं है। एडीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय ने औचक निरीक्षण के दौरान ऐसी ढेरों खामियां पकड़ी हैं। इस अव्यवस्था को लेकर उन्होंने पेंट्रीकार मैनेजर को जमकर फटकार लगाई। इतना ही नहीं सभी सामान के सैंपल लेकर जांच कराने का आदेश दिया।
एडीआरएम श्री बंदोपाध्याय निजामुद्दीन से इस ट्रेन में सफर कर रहे थे। औचक जांच की वजह माना जा सकता है कि यात्रा के दौरान उन्होंने घटिया क्वालिटी का भोजन व नाश्ता चखा होगा। हालांकि पेंट्रीकार में
...
more...
जांच उन्होंने बिलासपुर रेल मंडल में ट्रेन आने के बाद की। बिलासपुर तक एक-एक व्यवस्थाओं को परखा। कुछ रोटी कच्ची व जली हुई थी। कर्मचारी इसे ही यात्रियों को परोस रहे थे। टेस्ट भी खास नहीं थी। ऐसा लग रहा था मानों रोटियां लोकल ब्रांड के आटे से बनाई गई हो। आटे का पैकेट के बाद मसाले व मिर्च, हल्दी सभी की जांच की। सभी की क्वालिटी ठीक नहीं थी। इसके साथ ही कोच में गंदगी फैली थी। नियमानुसार साफ-सफाई का विशेष ध्यान देना है। उन्होंने पेंट्रीकार के संचालक से इस संबंध में जवाब मांगा तो उसकी बोलती बंद हो गई। इस पर जमकर फटकार लगाई। बिलासपुर पहुंचने के बाद सैंपल कलेक्ट करने का आदेश दिया। मालूम हो कि इस ट्रेन की पेंट्रीकार का जिम्मा आईआरसीटीसी के पास है। उन्होंने इसका ठेका न्यू क्लासिक कंपनी को दिया।
25 की जगह 15 कर्मचारी
जांच के दौरान एडीआरएम ने एक खार्मी पेंट्रीकार के कर्मचारियों (वेंडर) की पकड़ी। नियमानुसार यात्रियों तक सामान परोसने के लिए संचालक को 25 कर्मचारी रखने हैं। बेहतर सेवा के लिए कम से कम इतने कर्मचारी जरूरी हैं। लेकिन उन्हें 15 कर्मचारी ही मिले। इसके कारण यात्रियों तक खाना-नाश्ता पहुंचने में काफी देर हो रहा था। इसके अलावा तीन की जगह एक रसोइया खाना बनाते दिखा।
पानी व दही गायब
मेनू के अनुसार थाली का आर्डर देने पर 6 सौ एमएम पानी और दही भी देना है। लेकिन पेंट्रीकार के कर्मचारी यात्रियों को इन दोनों चीजों को नहीं परोस रहे थे। मांगने पर ऐसी जवाब देते कि यात्री नाराज हो जा रहे थे। उनकी लापरवाही बर्दाश्त करना यात्रियों की मजबूरी थी।
भारी जुर्माना होगा- एडीआरएम
इस संबंध में एडीआरएम श्री बंदोपाध्याय ने बताया कि पेंट्रीकार में सामान अनब्रांडेड थे। खासकर मसाला। रोटियों में भी टेस्ट नहीं था। जांच के दौरान जिस तरह की खामियां मिली हैें। वह बड़ी लापरवाही के दायरे में आती है। इसलिए संचालक के खिलाफ भारी जुर्माने का आदेश दिया जाएगा। कम से कम 50 हजार जुर्माना होना तय है। गुरुवार को आकलन के बाद जुर्माने की राशि तय हो जाएगी।
  
Today (08:15)  पटना के लिए चलेगी होली स्पेशल ट्रेन (mnaidunia.jagran.com)
back to top
New/Special TrainsSECR/South East Central  -  

News Entry# 330055     
   Past Edits
Feb 22 2018 (08:15)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Aaditya^~/1421836
 
 
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
होली पर्व के दौरान बिहार की ट्रेनों में होने वाली अतिरिक्त भीड़ को कम करने के लिए रेलवे ने दुर्ग से पटना के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। यह ट्रेन 28 फरवरी को दुर्ग से छूटेगी और पटना से 3 मार्च को रवाना होगी।
त्योहार में एकाएक ट्रेनों में भीड़ बढ़ जाती है। रेलवे अभी से इसका आकलन करने लगी है। इसमेंबिहार के लिए स्पेशल ट्रेन की आवश्यकता महसूस की गई। इसे एक फेरे के लिए चलाया जाएगा। दुर्ग से 08793 नंबर के साथ 16.00 बजे
...
more...
छूटकर 16.45 बजे रायपुर, 18.45 बजे बिलासपुर, 19.43 बजे चांपा, 20.41 बजे रायगढ़, 22.05 बजे झारसुगुड़ा व राउरकेला, रांचा, चंद्रपुर, बोस जे गोमो, कोडरमा, गया, जहानाबाद में रुकते हुए दूसरे दिन 10.40 बजे पटना पहुंचेगी। वापसी में पटना से 08794 नंबर के साथ 20.30 बजे छूटेगी और दूसरे दिन 14.45 बजे बिलासपुर, 16.35 बजे रायपुर व 18.10 बजे दुर्ग पहुंचेगी। यह ट्रेन 18 कोच के साथ चलेगी। इनमें 2 एसएलआर/एसएलआरडी, 02 सामान्य, 10 स्लीपर, 03 एसी- 3 , एक एसी-2 कोच होंगे।
  
Today (08:13)  सांसद नेताम ने जीएम से की मुलाकात, कहा- अंबिकापुर का करें दौरा (mnaidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 330054     
   Past Edits
Feb 22 2018 (08:13)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
 
 
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने बुधवार को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन कार्यालय पहुंचकर जीएम सुनील सिंह सोइन से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने जीएम से उसलापुर व सूरजपुर रेलवे स्टेशन को विकसित करने और अंबिकापुर का दौराकर वहां रेल सुविधाओं के विकास के लिए ठोस प्रयास करने की बात कही।
श्री नेताम दोपहर करीब 1.30 बजे जोन कार्यालय पहुंचे। मुलाकात के दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ में रेलवे के विकास पर विस्तार से चर्चा की। इनमें प्रमुख रूप से मैनपाट की पर्यटन क्षमता के अनुसार अंबिकापुर रेलवे स्टेशन को विकसित करना,
...
more...
अंबिकापुर-दुर्ग एक्सप्रेस में फर्स्ट एसी कोच की सुविधा और जबलपुर-अंबिकापुर ट्रेन में स्लीपर कोच जोड़ने के मुद्दे को रखा। इन सुविधाओं के अभाव क्षेत्र की जनता को किसी तरह असुविधाएं होती हैं। उनसे भी जीएम को अवगत कराया। उसलापुर रेलवे स्टेशन बिलासपुर के बाद दूसरा प्रमुख स्टेशन है। फिर भी यहां छोटी-छोटी सुविधाओं का अभाव है। इसे उपलब्ध कराने से यात्रियों को राहत मिलेगी। हाल ही में रेल बजट में स्वीकृत चिरमिरी- नागपुर रोड की नई लाइन पर प्रशंसा जाहिर है और कहा कि यह सुविधा इस क्षेत्र के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। जीएम ने उनके सभी मुद्दों पर गंभीरता से ध्यान देते हुए उचित कदम उठाने की बात कही। बैठक में प्रधान मुख्य इंजीनियर जेके वर्मा, सचिव हिमांशु जैन व उप महाप्रबंधक(सा) व मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रकाश त्रिपाठी उपस्थित थे।
Page#    311346 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.