Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  
dark mode

NTES is the salt of Railfanning. IRI is the sugar. - Kirti Solanki

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Fri Aug 19 17:38:32 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Filters:

Page#    245 Blog Entries  next>>
Rail News
17603 views
New Facilities/Technology
NER/North Eastern
Aug 10 (09:42)   लखनऊ-दिल्ली तेजस में रोजाना खाली रहती हैं 200-250 सीटें, तीन साल में 62 करोड़ का घाटा

Prakhar Yadav^~   444 news posts
Entry# 5443086   News Entry# 494750         Tags   Past Edits
भारतीय रेलवे में दिल्ली के लिए जब ट्रेनों में रिजर्वेशन को लेकर मारामारी रहती है वहीं एक सुपरफास्ट एक्सप्रेस में रोजाना 200 से 250 सीट खाली रह जाती हैं। सप्ताह में छह दिन चलने वाली ट्रेन को अब सिर्फ चार दिन ही संचालित हो रही है।
कानपुर, जागरण संवाददाता। रेलवे की ओर से पहली बार तेजस ट्रेनों का संचालन निजी आपरेटरों को सौंपा गया, लेकिन यह प्रयोग सफल होता नहीं दिख रहा। दिल्ली लखनऊ और मुंबई-अहमदाबाद के बीच संचालित दोनों तेजस ट्रेनें लगातार घाटे में चल रही हैं। लखनऊ वाया कानपुर सेंट्रल-नई दिल्ली 27.52 करोड़ रुपये के घाटे में चल रही है। लगातार हो रहे घाटे और यात्री नहीं मिलने पर हाल ही में रेलवे ने तेजस के फेरे कम
...
more...
कर दिये। अब यह सप्ताह में छह दिन की बजाय चार दिन चलाई जा रही है। इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हुआ है। रोजाना 200 से 250 सीटें खाली रहती हैं। Coronavirus Kanpur News: आइआइटी के नौ व सीएसए के छह प्रोफेसर-छात्र समेत 35 नए संक्रमित मिले, सक्रिय केस हुए 153 यह भी पढ़ें यह है वजह : बताया जा रहा है कि तेजस के आगे-आगे राजधानी और शताब्दी ट्रेन चलती हैं। इनका किराया तेजस से कम है पर सुविधा तेजस जैसी ही है। ऐसे में लोग तेजस से सफर करना पसंद नहीं कर रहे हैं। ट्रेनों की स्थिति देख हाल ही में रेल मंत्रालय ने फिलहाल और कोई ट्रेन निजी आपरेटर को न देने का निर्णय लिया है। पांच बार रोकना पड़ा परिचालन : कोरोना के बाद से इस ट्रेन की फ्रीक्वेंसी लगातार घटाई बढ़ाई गई और यात्री कम होने पर साल 2019 से 2022 के बीच इसका अस्थायी रूप से पांच बार परिचालन भी बंद किया गया। Kanpur Weather: मानसून की वर्षा के बाद एक बार फिर साफ होंगे बादल, तापमान भी चढ़ने के आसार यह भी पढ़ें कब हुआ लाभ और घाटा : लखनऊ-नई दिल्ली रूट पर तेजस एक्सप्रेस से 2019-20 के बीच 2.33 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। इसके बाद वर्ष 2020-21 में 16.69 करोड़ रुपये का घाटा और फिर वर्ष 2021-22 में 8.50 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है। तीन साल में 62.88 करोड़ रुपये घाटा : रेल मंत्रालय ने तीन साल पहले इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) को अहमदाबाद-मुंबई और लखनऊ दिल्ली तेजस ट्रेन का संचालन सौंपा था। रेलवे को उम्मीद थी कि इससे उसे लाभ होगा। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। ये दोनों ट्रेनें हर साल घाटे में जा रही हैं। तीन साल में इन दोनों का घाटा 62.88 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। Rakesh Sachan प्रकरण के बाद बना अदालत की सुरक्षा का मास्टर प्लान, सीसीटीवी कैमरों से होगा लैस यह भी पढ़ें -कोरोना काल में लंबे समय के लिए तेजस बंद रही फिर भी रेलवे को किराया दिया गया। धीरे-धीरे घाटे की भरपाई हो जाएगी। आने वाले दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी। -अजीत कुमार सिन्हा, मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक, आइआरसीटीसी। Edited By: Abhishek Agnihotri
कानपुर, जागरण संवाददाता। रेलवे की ओर से पहली बार तेजस ट्रेनों का संचालन निजी आपरेटरों को सौंपा गया, लेकिन यह प्रयोग सफल होता नहीं दिख रहा। दिल्ली लखनऊ और मुंबई-अहमदाबाद के बीच संचालित दोनों तेजस ट्रेनें लगातार घाटे में चल रही हैं।
लखनऊ वाया कानपुर सेंट्रल-नई दिल्ली 27.52 करोड़ रुपये के घाटे में चल रही है। लगातार हो रहे घाटे और यात्री नहीं मिलने पर हाल ही में रेलवे ने तेजस के फेरे कम कर दिये। अब यह सप्ताह में छह दिन की बजाय चार दिन चलाई जा रही है। इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हुआ है। रोजाना 200 से 250 सीटें खाली रहती हैं।

यह है वजह : बताया जा रहा है कि तेजस के आगे-आगे राजधानी और शताब्दी ट्रेन चलती हैं। इनका किराया तेजस से कम है पर सुविधा तेजस जैसी ही है। ऐसे में लोग तेजस से सफर करना पसंद नहीं कर रहे हैं। ट्रेनों की स्थिति देख हाल ही में रेल मंत्रालय ने फिलहाल और कोई ट्रेन निजी आपरेटर को न देने का निर्णय लिया है।
पांच बार रोकना पड़ा परिचालन : कोरोना के बाद से इस ट्रेन की फ्रीक्वेंसी लगातार घटाई बढ़ाई गई और यात्री कम होने पर साल 2019 से 2022 के बीच इसका अस्थायी रूप से पांच बार परिचालन भी बंद किया गया।

कब हुआ लाभ और घाटा : लखनऊ-नई दिल्ली रूट पर तेजस एक्सप्रेस से 2019-20 के बीच 2.33 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। इसके बाद वर्ष 2020-21 में 16.69 करोड़ रुपये का घाटा और फिर वर्ष 2021-22 में 8.50 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है।
तीन साल में 62.88 करोड़ रुपये घाटा : रेल मंत्रालय ने तीन साल पहले इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) को अहमदाबाद-मुंबई और लखनऊ दिल्ली तेजस ट्रेन का संचालन सौंपा था। रेलवे को उम्मीद थी कि इससे उसे लाभ होगा। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। ये दोनों ट्रेनें हर साल घाटे में जा रही हैं। तीन साल में इन दोनों का घाटा 62.88 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

-कोरोना काल में लंबे समय के लिए तेजस बंद रही फिर भी रेलवे को किराया दिया गया। धीरे-धीरे घाटे की भरपाई हो जाएगी। आने वाले दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी। -अजीत कुमार सिन्हा, मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक, आइआरसीटीसी।

3 Public Posts - Wed Aug 10, 2022

Rail News
12104 views
Aug 10 (12:08)
shiv2350
S.Sharma   611 blog posts
Re# 5443086-4               Past Edits
Lucknow Tejas Should be extended till Gorakhpur then only it will be profitable. It takes 6 hrs and 15 minutes to reach New Delhi. It can accommodate 2 hrs more to reach Gorakhpur. Speed can be increased more.

1 Public Posts - Wed Aug 10, 2022
Rail News
5980 views
Commentary/Human Interest
Aug 01 (15:09)   डेढ़ लाख भर्ती के बीच रेलवे ने खत्म किए 1,320 पद, यहां देखें पूरी जानकारी..

Prakhar Yadav^~   444 news posts
Entry# 5432657   News Entry# 493880         Tags   Past Edits
रेलवे के कई विभाग में कर्मचारियों की कमी है ऐसे में इन पदों को खत्म कर देना बेहद निराशाजनक है।

Rail News
5430 views
Aug 01 (15:35)
shiv2350
S.Sharma   611 blog posts
Re# 5432657-1              
Samay ke saath Machinery badlati hai kaam karne ke liye aur yadi ek machine 20 log ka kaam kar sakti hai to use use to kar sakte hain. Ha ye ho sakta tha ki internal recruitment other department mein hoti.
Rail News
Commentary/Human Interest
WR/Western
Jul 28 (14:59)   अहमदाबाद और मुंबई के बीच चलने वाली तेजस ट्रेन सरकार के लिए घाटे का सौदा, तीन साल से लगातार घाटे में

Prakhar Yadav^~   444 news posts
Entry# 5427526   News Entry# 493441         Tags   Past Edits
अहमदाबाद और मुंबई के बीच चलने वाली तेजस ट्रेन सरकार के लिए घाटे का सौदा, तीन साल से लगातार घाटे में

1 Public Posts - Thu Jul 28, 2022

Rail News
3390 views
Jul 28 (16:06)
shiv2350
S.Sharma   611 blog posts
Re# 5427526-2              
Ahmedabad - Mumbai Tejas ko Pune tak yadi badha dete to zayada profitable hota. Railway ko ya to Tejas chalaani chahiye ya Shatabdi. Dono trains ko chalane se loss hi hoga. Pehle hi Ahmedabad - Mumbai route pe pehle se hi shatabdi double decker aur humsafar (6+) chal rahi hai.

8 Public Posts - Thu Jul 28, 2022
Rail News
21395 views
IR Affairs
ECR/East Central
Jul 27 (11:35)   नए कोच के साथ दौड़ेगी श्रमजीवी एक्सप्रेस

Rajdhani_in_KG_line~   115 news posts
Entry# 5426076   News Entry# 493328         Tags   Past Edits
पीडीडीयू नगर। राजगीर से नई दिल्ली के बीच चलने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस अब नए कोच के साथ चलेगी। श्रमजीवी के आईसीएफ कोच को बदल कर एलएचबी कोच जोड़ा जाएगा। एलएचबी कोच हल्के होते हैं और 160 किमी की रफ्तार से दौड़ सकते हैं। यह देखने में भी आकर्षक होते हैं और दुर्घटना की स्थिति में एलएचबी कोच में यात्रियों के जान मॉल का नुकसान कम होता है। कोच बदलने से यात्रियों को आरामदायक, सुरक्षित यात्रा का अनुभव मिलेगा।राजगीर से पटना, आरा, बक्सर, पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन, वाराणसी, लखनऊ होते हुए नई दिल्ली तक जाने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस अत्यधिक पुरानी ट्रेन है। यह ट्रेन हमेशा ही यात्रियों से भरी होती है। रेलवे लगातार ट्रेनों में यात्रियों की सुविधाओं को बढ़ाने और ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने में जुटा है। इसके लिए लगातार ट्रेनों के पुराने कोचों केे बदल कर एलएचबी कोच में तब्दील किया जा रहा है। हालांकि अभी भी श्रमजीवी एक्सप्रेस पुराने...
more...
कोच के साथ दोड़ रही है। इसको देखते हुए अब रेलवे ने श्रमजीवी एक्सप्रेस के कोच को एलएचबी कोच में तब्दील करने का निर्णय लिया है। इसके लिए हाजीपुर मुख्यालय से 21 जुलाई को पत्र जारी कर दिया गया है। ऐसे में जल्द ही श्रमजीवी एलएचबी कोच के साथ नए रंग रूप में नजर आएगा।

Rail News
21036 views
Jul 27 (11:56)
shiv2350
S.Sharma   611 blog posts
Re# 5426076-1              
Good initiative. Magadh Express also needs LHB rake with speed upgradation. Shramjeevi and Magadh both trains should run with upgraded speed and good coach composition.

1 Public Posts - Wed Jul 27, 2022
Rail News
14703 views
IR Affairs
NCR/North Central
Jul 26 (09:42)   Gwalior Railway News: सौर ऊर्जा पर निर्भर होगा रेलवे, 1320 एकड़ में पटरियों के किनारे लगेंगी सोलर प्लेट

Adi_18477_18478^~   41357 news posts
Entry# 5424876   News Entry# 493251         Tags   Past Edits
Gwalior Railway News: प्रियंक शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। बिजली का खर्चा बचाने के लिए अब रेलवे सौर ऊर्जा पर निर्भरता बढ़ा रहा है। अभी तक तो रेलवे अपने कार्यालयों और स्टेशनों को सौर ऊर्जा से संचालित कर रहा था, लेकिन आने वाले दिनों में पटरियों के आस-पास खाली पड़ी जमीन पर सोलर पैनल लगे नजर आएंगे। सौर ऊर्जा उत्पादन की दिशा में रेलवे तेजी से काम कर रहा है। अब ट्रेनों को भी सौर ऊर्जा से चलाने की तैयारी है। रेलवे एनर्जी मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड (आरईएमसीएल) द्वारा इसका खाका तैयार किया जा रहा है। उत्तर मध्य रेलवे में रेलवे 1320 एकड़ जमीन पर सोलर पैनल लगाएगा।
वर्ष 2030 तक उत्तर मध्य रेलवे में ट्रेनों का शत-प्रतिशत संचालन सौर ऊर्जा से करने का लक्ष्य
...
more...
है। रेलवे ने बिजली पर निर्भरता काफी कम कर दी है। अब सौर ऊर्जा से ट्रेनों के संचालन की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है। रेलवे की कंपनी आरईएमसीएल द्वारा इसका खाका तैयार किया जा रहा है। अभी तक बनाए गए प्लान के अनुसार उत्तर मध्य रेलवे में पटरियों के किनारे पड़ी 1320 एकड़ जमीन पर रेलवे द्वारा सोलर पैनल लगाए जाएंगे। इनके माध्यम से 249 मेगावाट बिजली पैदा की जाएगी। इस बिजली का इस्तेमाल ट्रेनों के संचालन में होगा। एनसीआर में वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहले तीन महीने में सोलर एनर्जी से 38.4 लाख यूनिट बिजली बनाई गई। इससे 1.56 करोड़ राजस्व की बचत हुई है। अनुमान है कि कार्बन उत्सर्जन में लगभग 3200 मीट्रिक टन की कमी भी आई है। झांसी रेल मंडल की बात करें तो अभी 13 जगह पर सौर ऊर्जा प्लांट लगे हैं। इससे हर महीने औसतन 1.25 लाख यूनिट सोलर एनर्जी पैदा हो रही है। अब झांसी, उरई और ललितपुर स्टेशन या आस-पास की 5 जगहों पर नए प्लांट लगाने की तैयारी है। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी डा. शिवम शर्मा का कहना है कि अभी तक स्टेशन भवन और प्रशासनिक भवनों की छतों पर सोलर प्लांट लगाए गए हैं। पहली बार रेल पटरियों के किनारे सौर उर्जा संयंत्र लगेंगे।

Rail News
12322 views
Jul 26 (11:32)
shiv2350
S.Sharma   611 blog posts
Re# 5424876-1               Past Edits
Major Bridges, Railway Stations, Sheds and empty lands belong to railway can be utilised for solar electricity and can be used for its own consumption as well as electricity selling too.
Page#    245 Blog Entries  next>>

Leading Polls

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 5388512
    Jun 24 2022 (08:45AM)


    As announced previously, there are a few changes coming to IRI user accounts, based on past practices. 1. As before, you will be able to quickly DELETE your IRI User account at ANY time. However, the menu option for this was hidden in the profile page, and could not easily be located....
  • Entry# 5148000
    Nov 29 2021 (06:40AM)


    A new feature will be released soon, whereby you can follow blogs tagged with specific Trains & Stations. If you have already posted blogs tagged with some Train/Station, then you will be set to automatically follow that Train/Station. Thereafter, any future news/blogs tagged with those Trains/Stations will be marked to your...
  • Entry# 5093784
    Oct 13 2021 (07:04AM)


    These days, every other day, we are getting requests from members to allow email login to their FB-based IRI account. 10 years ago, we had given the option for users to login through FaceBook - in retrospect, this was a mistake. These days, apparently, users are quitting FaceBook in droves because...
  • Entry# 4906979
    Mar 14 2021 (01:12AM)


    Followup to: Fmt Changes The new version of FmT 2.0 will soon be here - in about 2 weeks. As detailed in the previous announcement, many of the old FmT features like Train TT, Speedometer, Geo Location, etc. will be REMOVED. It will be a bare-bones simple app, focused on trip blogging. It...
  • Entry# 4898771
    Mar 06 2021 (10:33PM)


    There are some changes coming to FMT. Many of the features of FMT, like station arrival, TT, speed, geo, passing times, station time, etc. are ALREADY available in OTHER railway apps. So all of these features will be REMOVED. We'll have ONLY BLOGGING - quick upload of pics/videos/audio, etc. You may attach...
  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy